Occupation Meaning In Hindi | ऑक्यूपेशन का अर्थ क्या है कितने प्रकार के होते है

0
3
Occupation Meaning in Hindi

नमस्कार दोस्तों हमारे ब्लॉग पर आप का एक दफा फिर से स्वागत है, दोस्तों आप सभी जानते हैं कि वर्तमान में जो युग है वहां इंटरनेट का युग है, आजकल सभी के पास स्मार्टफोन होता है वहां अपने स्मार्टफोन के माध्यम से ही एक दूसरे से वार्तालाप करते है.

क्योकि आज के समय मे सभी लोग अपने काम काज में व्यस्त रहते है, इसलिए एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के पास जाने में असमर्थ रहता है, इसलिए वह इंटरनेट के माध्यम से एक दूसरे से वार्तालाप कर लेते हैं यहां वार्तालाप व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि के माध्यम से हो जाती है.

परन्तु आजकल सभी लोग अपने सामने वाले व्यक्ति पर अपना इंप्रेशन जमाने के लिए अधिक इंग्लिश शब्दों का उपयोग करते हैं जिससे की व्यक्ति का इंप्रेशन सामने वाले व्यक्ति पर जम जाए यहां सभी इंग्लिश शब्द बोलने के बाद वह बोलने वाला व्यक्ति अपने मन में सुख की अनुभूति करता है.

दोस्तों आप सभी भी सोशल मीडिया पर अपने किसी फ्रेंड से वार्तालाप तो करते ही होंगे उस वार्तालाप में आपको एक शब्द जरूर सुनने या पढ़ने में आया ही होगा वहां शब्द है occupation.

आप सभी ने ऑक्यूपेशन का नाम टेलीविजन मोबाइल या अन्य किसी सोशल मीडिया नेटवर्क पर जरूर सुना ही होगा तो आपके मन में यह सवाल तो जरूर आया होगा कि ऑक्यूपेशन शब्द का हिंदी अर्थ होता क्या है, इस शब्द का प्रयोग सबसे ज्यादा कहा किया जाता है.

तो दोस्तों आज हमारे इस लेख के जरिए आपको ऑक्यूपेशन शब्द की सभी जानकारी हिंदी में मिलेगी हम आपको हमारे इस लेख के जरिए Occupation Meaning In Hindi के बारे बताएंगे,  तो आप हमारे इस लेख को पूरा पढ़िए आपको हमारे इस लेख में ऑक्यूपेशन की एटूजेड जानकारी मिल जाएगी.

तो चलिए दोस्तों सबसे पहले हम जानते है ऑक्यूपेशन होता क्या है, Occupation meaning in Hindi.

Occupation Meaning In Hindi | ऑक्यूपेशन का अर्थ क्या है

दोस्तो सबसे पहले हम आपको यह बता दे कि  occupation का अर्थ क्या होता है, occupation का अर्थ व्यवसाय होता है, ऑक्यूपेशन को हिंदी में व्यवसाय कहते है, इसके अलावा भी occupation के बहुत सारे उच्चारण है.

दोस्तों आप सभी को पता ही है कि किसी भी इंग्लिश शब्द का हम हिंदी उच्चारण निकालते हैं तो हमारे सामने लगभग 5 से 6 हिंदी उच्चारण सामने आते हैं, परंतु उन सभी उच्चरणों में एक हिंदी मतलब मुख्य होता है जिसे हम उसका सही अर्थ मान सकते है.

वैसे ही occupation का मुख्य अर्थ व्यवसाय होता है, ओर इसे पेशा भी कहते है, वैसे देखा जाए तो पेशा शब्द का इंग्लिश मतलब निकले तो वह profession है, परन्तु इस जगह भी इस शब्द का इस्तेमाल होता है, परन्तु दोस्तो ऑक्यूपेशन शब्द के ओर भी उच्चारण है, जैसे.

पेशा, व्यवसाय, अधिकार आदि परन्तु दोस्तो ऑक्यूपेशन शब्द से रिलेटेड बहुत सारे शब्द है, occupationally इस शब्द का हिंदी उच्चारण है व्यावसायिक रूप से, इसके अलावा देखा जाए तो occupationology का हिंदी अर्थ व्यावशयिकी होता है, ऐसे ही ओर भी बहुत सारे अर्थ है जो ऑक्यूपेशन शब्द से मिलते जुलते है.

दोस्तो  अगर हम आपको सरल शब्दों में बताएं तो ऑक्यूपेशन का मुख्य अर्थ व्यवसाय होता है परंतु व्यवसाय को हम धंधा, कारोबार पैशा, व्यापार आदि कह सकते है,  दोस्तों ऑक्यूपेशन एक ऐसी चीज है जिससे कोई भी व्यक्ति कर सकता है.

परंतु इस काम को करने के लिए बहुत मेहनत और दिमाग की आवश्यकता होती है तभी जाकर वहां व्यक्ति व्यापार या व्यवसाय में सफल हो सकता है, किसी भी चीज को उत्पन्न करने से लेकर  अंतिम स्तर तक पहुंचाने की क्रिया को व्यवसाय ऑक्यूपेशन कहते हैं.

दोस्तों आपसे कोई भी व्यक्ति प्रत्यक्ष रूप से या सोशल मीडिया के माध्यम से  आपके व्यवसाय या कारोबार के बारे में पूछता है तो आप उस व्यक्ति को अपने कारोबार की जानकारी देते हैं, दोस्तो कारोबार या धंधे से ये मतलब नही है कि आप कोई बिज़नेस या धंधा कर रहे है, तभी आप ऑक्यूपेशन सवाल का अर्थ दे.

अगर आप कोई जॉब या सरकारी नोकरी कर रहे तो यह भी आपका एक व्यवसाय ही है, जिसे आप संभाल रहे है, दोस्तों अगर देखा जाए तो occupation का मूल अर्थ भी यही है, तो अब ह occupation शब्द से रिलेटेड सवाल जानते है.

जैसे आपसे कोई भी व्यक्ति ऑक्यूपेशन शब्द के आधार पर क्या सवाल कर सकते है और आपको उन सवालों का क्या जवाब देना चाहिए, दोस्तो अक्सर आप ने स्कूल व कॉलेज में किसी भी संबध में कोई आवेदन पत्र देते है या किसी जॉब के लिए apply करते है तो उसमें आपने ध्यान दिया होगा की.

उसमे एक लाइन या कॉलम occupation का भी होता है, उसमे आज पूछा जाता है कि आपके माता पिता का या आपका क्या ऑक्यूपेशन ( आजीविका ) है, इस occupation कॉलम मतलब यह होता है कि आपके माता पिता क्या काम करते है.

इसके जवाब में आप यह बताएंगे कि आपके माता पिता या आपका व्यवसाय क्या है, ओर अपने रोजगार एवं अपनी आजीविका से संबंधित जवाब देंगे .

Types of Occupation | ऑक्यूपेशन ( व्यवसाय ) कितने प्रकार के होते है

दोस्तो अगर occupation के प्रकार की बात की जाए तो यह मुख्य रूप से ही तीन प्रकार के होते है –

  1. नोकरी ( Job )
  2. व्यवसाय ( Business )
  3. प्रोफेशनल सर्विस ( Profession )

तो अब हम इन तीनो चीजो के बारे में विस्तार से जानते है

1.नोकरी ( Job )

दोस्तों नौकरी में किसी भी व्यक्ति को किसी कंपनी या निहित व्यक्ति के नीचे काम करना होता है, इसके लिए वह उनको पैसे देता है, तो उस प्रदत कार्य को हम उस व्यक्ति का occupation कहते है, यह ऑक्यूपेशन दो प्रकार का हो सकता है.

  • सरकारी नोकरी ( Government Job )
  • प्राइवेट या निजी नोकरी ( Private Job )

सरकारी नौकरी ( Govt. Job )

दोस्तों सरकारी नौकरी केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार के अंतर्गत आने वाले संसाधनों द्वारा, अपने विभागों पर होने वाले कार्य के निष्पादन के लिए सरकारी नौकरी दी जाती है, इस प्रकार की सरकारी नौकरी में एक निश्चित अवधि में सरकार के अधीन रहकर काम करना होता है.

ऐसी ही कुछ सरकारी नोकरी कुछ इस प्रकार है जैसे – 

प्रसाशनिक सेवा, शिक्षक, स्वास्थ्य सेवा, कानून व्यवस्था की सेवा ( पुलिस कोर्ट कचहरी ) भारतीय सेना आदि, यह सभी सरकारी नोकरी के अंतर्गत आते है, दोस्तों अब हम जानेंगे निजी नौकरी के बारे में

निजी नोकरी ( Private Job )

यहां नौकरी किसी निजी कंपनी या किसी निजी प्रतिष्ठान द्वारा दी जाती है, इस नौकरी के अंतर्गत आपको उस कंपनी के अनुबंधन के आधार पर कार्य करना होता है,  इसके बदले कंपनी, कर्मचारी को उचित परिश्रम देती है, जिसे हम हमारी भाषा में वेतन सैलरी या पगार कहते हैं.

कंपनी या निजी प्रस्थान आपको दैनिक सप्ताहिक या मासिक क्व हिसाब से परिश्रम देता है यह कंपनी और श्रोता के बीच की आपसी सहमति के आधार पर तय होता है, दोस्तों प्राइवेट सेक्टर में सरकारी नौकरी से अधिक विकल्प मौजूद होते हैं तथा इसका कारोबार भी बड़ा होता है इसमें एंप्लॉय की संख्या भी अधिक होती है इसके कुछ पद निम्नलिखित हैं.

जैसे – Accounting Job, Maintenance Job, Sell purchase and marketing related job, Management Service Jobs, Production Related Jobs etc.

इसके अलावा भी निजी कंपनियों एवं निजी व्यवसाय में बहुत सारे काम काज होते है, जो कंपनियों द्वारा दिये जाते है, दोस्तो आपने निजी व्यवसाय के बारे में तो जान लिया अब हम जानेंगे व्यवसाय के बारे में.

व्यवसाय ( Business )

दोस्तों बीच बस अपने खुद के संसाधनों द्वारा स्थापित किया जाता है आप व्यवसाय को अपने हिसाब से कर सकते हैं व्यवसाय किसी भी छोटे काम से लेकर बड़े स्तर तक किया जा सकता है, व्यवसाय को आप अपनी व्यवस्था के अनुसार कर सकते हैं मुख्यतः व्यवसाय तीन प्रकार के होते हैं.

  • बड़े स्तर का व्यवसाय
  • मध्यम स्तर का व्यवसाय
  • छोटे स्तर व्यवसाय

आइये दोस्तों हम इन तीनों व्यवसाय को विस्तार से जाते हैं

बड़े स्तर का व्यवसाय

बड़े स्तर के व्यवसाय में कारखाने या निर्माण करने वाली कंपनियां आती है, जैसे कपड़े बनाने वाली कंपनी, सीमेंट बनाने वाली कंपनी ,मोटर कार बनाने वाली कंपनी तेल ,बनाने वाली कंपनी ,दवाई बनाने वाली कंपनी ,प्लास्टिक बनाने वाली कंपनी, टेलीफोनिक सेवाएं देने वाली कंपनी, स्टील निर्माता कंपनी जैसी अन्य कंपनियां हैं.

बड़े स्तर के व्यवसाय को भी दो तरीके से किया जा सकता है

  • निजी भागीदारी द्वारा
  • सरकारी भागीदारी द्वारा

निजी भागीदारी द्वारा व्यवसाय– निजी भागीदारी द्वारा व्यवसाय को हम परिवारिक लोगों या समूह के द्वारा संचालित कर सकते हैं इसके अंतर्गत पतंजलि आयुर्वेदिक ,हुंडई, बजाज और महिंद्रा मारुति  जैसी अन्य कंपनियां आती है.

सरकारी भागीदारी द्वारा व्यवसाय– इसके अंतर्गत ओ एन जी पेट्रोकेमिकल, भारत पेट्रोलियम, बी एस एन अल, भील स्टील प्लांट, आदि सरकारी भागीदारी के व्यवसाय है

मध्यम स्तर का व्यवसाय

मध्यम स्तर के व्यवसाय में मध्यमवर्गीय की दुकाने आती है जैसे कपड़े की दुकान, सोने चांदी की दुकान, मिठाई की दुकान ,थोक माल के विक्रेता की दुकान, जूतों की दुकान और अन्य ऐसी ही मध्यमवर्गीय दुकान मध्यम स्तर के व्यवसाय में आती है.

छोटे स्तर का व्यवसाय

दोस्तों छोटे स्तर का व्यवसाय निम्न स्तर पर किया जाता है इसके अंतर्गत जैसे सब्जी की दुकान, स्टेशनरी की दुकान, मोबाइल की दुकान जैसी ओर भी अन्य दुकाने सामिल है.

प्रोफेशनल सर्विस ( Profession )

इसके अंतर्गत ऐसे व्यवसाय आते हैं जिसमें लोग अपनी सेवाएं निजी रूप से प्रदान करते हैं, यहां विशेषता उन्हें किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या अन्य किसी संस्थान से डिग्री या सर्टिफिकेट दी जाती है प्रोफेशनल सर्विस के कुछ उदाहरण इस प्रकार है

एडवोकेट, चार्टर्ड अकॉउंटेड, चार्टर्ड इंजीनियर, आर्किटेक्ट आदि

तो दोस्तों अब आप सभी को पता चल ही गया होगा कि ऑक्यूपेशन का हिंदी अर्थ क्या होता है, Occupation Meaning in hindi.

निष्कर्ष

आशा करते हैं दोस्तों आपको या जानकारी जरूर पसंद आई होगी, हमने आपको हमारे इस लेख के जरिए ऑक्यूपेशन का हिंदी अर्थ ( Occupation Meaning In hindi ) से संबंधित सभी छोटी बड़ी जानकारी बताइए तथा बताया है कि.

ऑक्यूपेशन क्या है ऑक्यूपेशन को हिंदी में क्या कहते हैं ऑक्यूपेशन का हिंदी अर्थ क्या है आदि.

अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों तक जरूर शेयर करें तथा आपके मन में हमारे इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स के बाद उसे जरूर बताएं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here